Friday, January 24, 2020

रूट कैनाल Root Canal Treatment



रूट कैनाल Root Canal Treatment
हमारे दांतों में तीन परतें होती हैं। बाहरी दो परतें ठोस होती हैं और चबाने में मदद करती हैं, जबकि सबसे निचली परत नरम होती है। दाँत का सबसे अंदरूनी नरम हिस्सा दांत का पल्प होता है। पल्प एक मुलायम ऊतक है जिसमें नसें और छोटी रक्त वाहिकाएं होती हैं।
यह पल्प क्राउन (आपके दांतों का बाहर दिखने वाला सफेद भाग) के साथ-साथ रूट कैनाल में भी होता है। रूट कैनाल एक छोटी ट्यूब है जो आपके प्रत्येक दांत की जड़ों में मौजूद होती हैं जो आमतौर पर एक स्वस्थ मुंह में बाहर से दिखाई नहीं देती है।
जब बैक्टीरियल संक्रमण  या फ्रैक्चर के कारण आपके दाँत की बाहरी दो परतें क्षतिग्रस्त हो जाती हैं, तो इससे आपके दांत के पल्प में सूजन और दांतों में संक्रमण हो सकता है। यदि ऐसी परेशानी होती है, तो आपके डॉक्टर आपको रूट कैनाल उपचार कराने की सलाह देते हैं, जिसे संक्षेप में आरसीटी (RCT) के रूप में जाना जाता है।
रूट कैनाल ट्रीटमेंट क्या है:- रूट कैनाल ट्रीटमेंट एक प्रकार का दांतों उपचार होता है। जो संक्रमित दांतों की मरम्मत और उन्हें अधिक खराब होने से बचाने के लिए किया जाता है। रूट कैनाल ट्रीटमेंट की प्रक्रिया के दौरान, दांतों की जड़ से नर्व और संक्रमित पल्प को हटा दिया जाता है। इसके बाद दाँत की जड़ की सफाई करके उसे सील कर दिया जाता है।
अगर समय पर संक्रमण का उपचार नहीं किया जाता है तो उपचार के बिना, आपके दांत के आस-पास के ऊतक संक्रमित हो जाएंगे और जो बाद दांत का फोड़ा बन सकते हैं। रूट कैनाल शब्द दांत की जड़ के अंदर की कैनाल की सफाई से जुड़ा है।
रूट कैनाल ट्रीटमेंट क्यों किया जाता है:- वयस्कों में,रूट कैनाल ट्रीटमेंट की जरुरत इसलिए होती है क्योंकि दांत का संक्रमण जबड़े की हड्डी में भी फैल सकता है जो रोगी की हालत को अधिक गंभीर बना सकता है। यदि आपके दांत में गहरी कैविटी है, दाँत में फ्रैक्चर हुआ है या जब आप कैविटी भरवा रहे हैं तो आपके दांत की पल्प में संक्रमण हो सकता है। ऐसे मामलों में, आपको संक्रमण को हटाने और रूट कैनाल को भरने की आवश्यकता होती है।
रूट कैनाल कैसे किया जाता है:- आरसीटी या रूट कैनाल ट्रीटमेंट एक बहु-चरण प्रक्रिया है और आमतौर पर आपको डेंटिस्ट के पास एक से अधिक बार जाने की आवश्यकता होती है। यह इलाज एक सामान्य डेंटिस्ट के द्वारा (रूट कैनाल उपचार में विशेषज्ञता प्राप्त डेंटिस्ट) द्वारा किया जाता है।
रूट कैनाल के बाद कैपिंग:- रूट कैनाल ट्रीटमेंट पूरा करने के बाद, आपके दांत को कैपिंग की आवश्यकता हो सकती है। यदि आपके प्राकृतिक क्राउन को नुकसान बहुत कम होता है, तो आपके डॉक्टर दांत के नुकसान वाले भाग को भरने के लिए सामने वाले दांतों में दांत के रंग की भरने वाली सामग्री का उपयोग करते हैं और पीछे के दांतों में दांतों की रंग की या सिल्वर रंग की सामग्री का उपयोग करते हैं। हालांकि, अगर क्षति मध्यम से गंभीर है, तो कैपिंग करना आवश्यक होता है। कैपिंग या क्राउन प्लेसमेंट से जिस दांत का इलाज किया गया है उसको सहारा और मजबूती मिलती है। क्राउन के विभिन्न प्रकार उपलब्ध हैं और आपको अपने दाँत के लिए सबसे उपयुक्त क्राउन का चुनाव करने के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

रूट कैनाल के बाद रिकवरी:- रूट कैनाल ट्रीटमेंट के बाद आप कुछ हफ्तों के भीतर ठीक हो जाते हैं। आपकी रूट कैनाल के बाद रिकवरी इस बात पर निर्भर करती है कि शुरुआत में आपका संक्रमण कितना गहरा था।
     दाँत तक सीमित संक्रमण चार से छह सप्ताह के भीतर ठीक हो जाता है।
रूट कैनाल ट्रीटमेंट के लिए संपर्क करे, दन्त रोग विभाग के. एम. सी. डिजिटल हॉस्पिटल महाराजगंज

0 comments:

Post a Comment